ब्लॉक का विवरण

लखनादौन
पूरा पता:
जनपद पंचायत लखनादौन
जिला:
सिवनी
पिन कोड:
480884
फ़ोन नंबर:
07690-240453
फैक्स नंबर:
07690-240453
ईमेल आईडी:
ceojpldon@gmail.com
परिचय और ब्लॉक का संक्षिप्त इतिहास:

सिवनी जिले में 8 विकास खंड है। जिसमें लखनादौन उनमें से एक है। लखनादौन  ब्लॉक में 108 ग्राम पंचायत हैं।साथ ही यहांं धूमा एवं आदेगांंव दो उपतहसील हैा

जन प्रतिनिधि:
ब्लॉक प्रशासन:
श्री अकुंर मेश्राम
अनुविभागीय अधिकारी राजस्व
संपर्क करे - 7690240122
श्री एस.सी.एस.परते
तहसीलदार
संपर्क करे - 9425838455
श्री एस.सी.एस.परते
तहसीलदार ( आदेगांव)
संपर्क करे - 9425838455
श्रीए एस कुसराम
मुख्य कार्यपालन अधिकारी (ज.प.)
संपर्क करे - 7690240453
श्री आनंद अवधि‍याा
विकासखंड स्रोत समन्वयक
संपर्क करे - 7690240478
श्री कैलाश कुुमार दुबे
मुख्य नगरपरिषद अधिकारी (न .प.)
संपर्क करे - 9893987744
श्रीमति हंसा घार्डे
परियोजना अधिकरी धूमा
संपर्क करे - 07690288321
सुश्री राजश्री मेसराम
परियोजना अधिकरी लखनादौन
संपर्क करे - 7690240246
सुुुुश्री पूूूूजा राय
नायब तहसीलदार ( धूूमा)
संपर्क करे - 8827318036
श्री देवी सिंह ठाकुर
अनुविभागीय अधिकारी पुलिस
संपर्क करे - 07690240123
सार्वजनिक समारोहों व मेला, धार्मिक स्थानों और सूत्रों का कहना है:

1.रिछारिया देव 

लखनादौन तहसील  के सिहोरा ग्राम (भजिया)मे स्थित है । यहा चतुर्भुजी विष्णु(योग नारायण )की पद्ममासन मे बैठी हुई यह सुंदर प्रतिमा बलुआ पत्थरसे निर्मित है ।इस प्रतिमा का निर्माण काल 10वी सदी इस्वी है।1942 मे इसे भूगर्भ से खोद कर निकाला गया था ।

vlcsnap-2016-12-07-12h56m29s647

vlcsnap-2016-12-13-15h08m12s262

vlcsnap-2016-12-13-15h07m54s271

 

 

2.जैन मंदिर

लखनादौन के समनापुर मे श्री दिगम्बर जैन मंदिर स्थित है यहा 05फुट 03इंच ऊची  महावीर स्वामी की पद्ममासन मे बैठी अत्यत भव्य प्रतिमा है जो जर्मन सिल्वर से निर्मित भारत कि प्रथम प्रतिमा है।

vlcsnap-2016-12-13-14h43m35s132

IMG-20161215-WA0054

20161221_120724

 

3.दिगम्बर जैन मंदिर 

लखनादौन के मध्य मे स्थित प्रचीन जैन मंदिर है जिनमे आदिनाथ भगवान पार्श्वनाथ भगवान .संतिनाथ भगवान है ये प्रतिमाए अत्यंत प्राचीन है ।

 

IMG-20161215-WA0036

IMG-20161215-WA0024

IMG-20161215-WA0026

 

4.गायत्री शक्ति पीठ 

लखनादौन के मध्य मे रोटा झील के पास मे  स्थित है । जो स्थानीय लोगों की आस्था एवं श्रद्धा का केंद्र है ।

20161221_120859

20161221_120848

 

 

 

 

 

 

 

 

5.धूमावती देवी का मंदिर

लखनादौन के धूमा ग्राम मे स्थित यह अत्यंत प्राचीन मंदिर है ।पांच गुम्बदो द्वारा मंदिर निर्मित होने के काराण इस मंदिर को पंच मठ की संज्ञा भी दी जाती है । जो स्थानीय लोगों की आस्था एवं श्रद्धा का केंद्र है ।

20161221_120934

vlcsnap-2016-12-13-14h53m50s061

 

 

 

 

 

 

 

 

6.बाला त्रिपुर सुंदरी माता

बिजना नदि के तट पर एक छोटी पहाडी मे बाला त्रिपुर सुंदरी माता का मंदिर स्थित है जो लखनादौन  के सहजपुरी के पास मे स्थित है । जो स्थानीय लोगों की आस्था एवं श्रद्धा का केंद्र है ।

vlcsnap-2016-12-13-14h52m11s050

vlcsnap-2016-12-13-14h52m25s281

 

 

 

 

 

 

 

 

 

7.मठ घोघरा क मेला

मठ्घोघरा के प्राकृतिक स्थल मे प्रति वर्ष मेला लगता है जो लगभग सात दिवस का होता है

WhatsApp Image 2016-12-06 at 3.05.27 PM

WhatsApp Image 2016-12-06 at 3.05.27 PM

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

8.श्रावण पुर का मेला

लखनादौन के समनापुर मे प्रति वर्ष मेला लगता है जो लगभग सात दिवस का होता है

vlcsnap-2016-12-13-15h05m07s783

vlcsnap-2016-12-13-14h48m03s696

 

जनसंख्या के आँकड़े:

paoulation hindi

स्वास्थ्य:

hospital hindi

 

 

private hos hindi

शिक्षा:

ssssssssssssssss

पर्यटन:

1.मठघोघरा 

लखनादौन से 09 किमी दूर सांगई ग्राम के पास मे स्थित है यहाँ लम्बवत अपरदन द्रारा निर्मित एक प्राकृतिक गुफा एवम  झरना भी है जो जिसमे शिव जी की मुर्ति है यहाँ शिवरात्रि को मेला लगता है एवम एक प्राकृतिक  झरना भी है जो पुरे वर्ष भर झरते रह्ता है जिससे पर्यटको को शांति एवम सुकून प्राप्त होता है ।

vlcsnap-2016-12-13-14h48m46s547

vlcsnap-2016-12-13-14h48m57s721

vlcsnap-2016-12-13-15h11m12s006

 

 

2.आदेगांव की गढी

मराठा काल की प्रचीन गढी लखनादौन से 18 किमी दूर आदेगांव मे स्थित है यहाँ गढी के भीतर भैरव की सुंदर प्रतिमा है  आयताकार पूर्वाभिमुखी इस गढी किले का निर्माण की नीव नागपुर के मराठा शासक रघुजी भोसले के शासन काल मे 18वी शदी मे उनके गुरु श्री नर्मदा भारती गोसाई ने डाली थी

vlcsnap-2016-12-13-14h45m42s354

vlcsnap-2016-12-13-14h48m32s480

vlcsnap-2016-12-13-15h04m16s502

 

3.पायली सरोवर  

पायली सरोवर लखनादौन से 53 किमी दूर स्थित है ।यहान प्राकृतिक द्वारा निर्मित तीन पहाडियो के मध्य मे एक सरोवर है जहाँ समुद्र की तरह लगभग 01 मी ऊची लहर उठती है जिन्हें देखने से पर्यटक आनंद से भाव विभोर हो जाते है

vlcsnap-2016-12-13-15h11m18s342

vlcsnap-2016-12-07-12h58m39s887

vlcsnap-2016-12-13-15h11m29s652

 

4.समुंद राजा

पर्यटन का एक विहंग दृश्य समुंद राजा जो लखनादौन से 40 किमी दूर है यहाँ ठेल नदी के किनारे बेसाल्ट चट्टानो काका नया स्वरुप देखने को मिलता है ।

vlcsnap-2016-12-13-15h01m50s658vlcsnap-2016-12-13-15h02m10s023  vlcsnap-2016-12-13-14h50m40s575

वन और पशु:
बैंक और वित्तीय संस्थांए:

bank eng

कृषि:

लखनादौन  में प्रमुख दो प्रकार से फसलो की खेती होती हैा

 

1 खरीफ – खरीफ की फसलो में  धान, मक्‍का, सोयाबीन , अरहर की कृषि  की जाती है

2 रबी – रबी की फसलो में गेहूं,  चना,  मसूर,  बटरा ,अलसी की कृषि की जाती हैा

 

agriculture hindi

ग्राम पंचायत, सरपंच और सचिव की सूची:

sarpanch & sachiv name1sarpanch & sachiv name2sarpanch & sachiv name2sarpanch & sachiv name3sarpanch & sachiv name4sarpanch & sachiv name5

वविभिन्न विभागों की योजनाओ की स्थिति:

yojnaye hindi

ब्लॉक की फैक्ट फाइल:

fact himdi

फार्म और डाउनलोड:
«वापिस